पथ के साथी

Sunday, January 26, 2020

949


लहरा लो तिरंगा प्यारा
डॉ0 सुरंगमा यादव

देश है अपना सबसे प्यारा
इसकी माटी चंदन है
हर उपवन वृंदावन है
भारत माँ का उन्नत भाल
कहता सुन लो मेरे लाल !
धरती से अम्बर तक
लहरा लो तिरंगा प्यारा
शान देश की अमर रहे
सीना ताने वीर कहें-
शीश सुमन से कर दें अर्पित
चहुँ  दिशि गूँजे यह जय गान
लहरा लो तिरंगा प्यारा
समता अपना प्यारा मंत्र
दुश्मन का हम हर षड्यंत्र
पल में चकनाचूर करें
राष्ट्रभाव से मिलकर सारे
लहरा लो तिरंगा प्यारा
कण-कण में बसते हैं राम
सबसे प्यारा भारत धाम
नैसर्गिक सुषमा अभिराम
पंछी गाते हैं अविराम
लहरा लो तिरंगा प्यारा

10 comments:


  1. कण-कण में बसते हैं राम
    सबसे प्यारा भारत धाम
    नैसर्गिक सुषमा अभिराम
    पंछी गाते हैं अविराम
    देश-प्रेम के रस में पगा सुन्दर सृजन सुरंगमा जीl
    सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई !

    ReplyDelete
  2. देश प्रेम में डूबी सुंदर सार्थक कविता, सुरँगमा जी बधाई और सबको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ!! जय हिन्द!!

    ReplyDelete
  3. देश प्रेम और इसके प्राकृतिक सौंदर्यबोध की सुन्दर रचना के लिए सुरंगमा जी को बधाई । गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं भी ।

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर रचना सुरंगमा जी। गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  5. देश प्रेम की भावना से ओतप्रोत बहुत सुंदर कविता ।बधाई सुरंगमा जी ।

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर कविता! हार्दिक बधाई डॉ. सुरंगमा जी!

    ~सादर
    अनिता ललित

    ReplyDelete
  7. देश प्रेम की भावना से ओतप्रोत कविता बहुत सुन्दर रचना है डॉ सुरंगमा जी आपको हार्दिक बधाई |सभी को गणतंत्र दिवस की ढेरों शुभकामनाएं |

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  9. सुंदर सृजन सुरंगमा जी
    बधाइयाँ

    ReplyDelete
  10. आप सभी का हृदय तल से आभार ।

    ReplyDelete