पथ के साथी

Thursday, August 15, 2019

923

मुकेश बाला


कल का माहौल
आज बता देती हूँ
उस दृश्य की झांकी
आज दिखा देती हूँ
चारों तरफ़ बहेगी
देशभक्ति की धारा
तिरंगे के सिवा कुछ
ना होगा हमें गवारा
हर किसी की डीपी पर
ये तिरंगा छा जाएगा
शहादत बसेगी हृदय में
हर शहीद याद आएगा
ट्विटर ब्लॉग फेसबुक
इनके आगे जाएंगे झुक
अल्फ़ाज़ निकलेंगे
देशभक्ति से ओतप्रोत
चारों तरफ़ छा जाएंगे
देशप्रेम के स्रोत
तीन रंगों में रंगा
होगा हर चेहरा
मुखौटा लिए हाथ में
देशभक्ति देगी पहरा
इस स्रोत वाहिनी में तो
ऊपरी सतह से ही बहेंगे
अन्दर से तो जो थे
हम वहीं है वहीं रहेंगे
जैसे ही फिर शाम होगी
जिन्दगी सबकी आम होगी
अनंत में तारे जब छा जाएंगे
सब अपने रस्ते आ जाएंगे
क्या करें इसमें
हमारी खता नहीं
क्या है देशभक्ति
हमें पता नहीं

6 comments:

  1. एकदम सत्य बात कही आपने,बहुत सुन्दर ।

    ReplyDelete
  2. सही और सच्ची बात .... यही होता है आजकल
    सुंदर सृजन के लिए हार्दिक शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छा लिखा है सत्य ही है सब |सुन्दर सृजन के लिए बधाई |

    ReplyDelete
  4. एकदम सही....सुन्दर सृजन के लिए हृदय से बधाई मुकेश बाला जी|

    ReplyDelete
  5. बहुत खूब मुकेश बालाजी!सच ही तो है, बस एक ही दिन का जोश होता है, फिर वही बेपरवाही !!

    ReplyDelete