पथ के साथी

Tuesday, June 9, 2020

1004



हरियाली फूल मौसम
रचना श्रीवास्तव


हरियाली फूल मौसम और आसमान
मुँडेरें इनकी हैं जीवन का उपमान

धरती के मुखड़े पर
बादल की छाँव
आज देखा शहर में
हँसता एक गाँव
लौट आ घर को ,
भटके मेरे अरमान
हरियाली फूल मौसम और आसमान

नदी के आँगन फिर
उतरा आज चाँद
भागे तारे
अम्बर की खिड़की फाँद
चौखट पर इनकी
उगता नहीं अभिमान
हरियाली फूल मौसम और आसमान

इंद्रधनुष ने दिए
हवा को अपने रंग
खेतों की चूनर
लहराई उनके संग
इनके तले ही
पलते मेरे अरमान
हरियाली फूल मौसम और आसमान।   
  [ चित्र; प्रीति अग्रवाल]

14 comments:

  1. बहुत सुन्दर सृजन रचना जी... हार्दिक बधाई आपको !

    ReplyDelete
  2. आपकी लिखी रचना "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" आज मंगलवार 09 जून जून 2020 को साझा की गई है.... "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    ReplyDelete
  3. बहुत समय के बाद, अति सुंदर सृजन के साथ ।हार्दिक बधाई रचना जी।

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर रचना है रचना जी | चौखट पर इनकी उगता नहीं अभिमान ... क्या खूबसूरत बात कह डाली आपने कविता में हार्दिक बधाई |प्रीति जी को भी उनकी चित्रकारी के लिए हार्दिक बधाई |

    ReplyDelete
  5. रचना जी को बेहद खूबसूरत कविता के लिए बहुत बहुत बधाई!!बहुत बढ़िया समां बाँधा आपने।

    ReplyDelete
  6. बहुत मनोरम चित्र -प्रक़ति के साथ मन का रिश्ता .

    ReplyDelete
  7. अभिराम शब्द-चित्र!

    ReplyDelete
  8. बहुत सुंदर सृजन... बधाई रचना जी।

    ReplyDelete
  9. सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  10. बहुत सुंदर सरस सृजन।

    ReplyDelete
  11. इस मनोहारी सृजन के लिए बहुत बधाई रचना जी...

    ReplyDelete
  12. मनभावन प्रस्तुति के लिए रचना जी को हार्दिक बधाई !!

    ReplyDelete
  13. बहुत भावपूर्ण और मनोरम कविता. बधाई रचना जी.

    ReplyDelete