पथ के साथी

Friday, October 18, 2019

934

[डॉ .सुधा गुप्ता  हिन्दी काव्य-जगत् की वह अकेली रचनाकार हैं , जिन्होंने हाइकु को जिया है  तथा हिन्दी -काव्य-जगत् को ऊँचाई प्रदान की है। इन्हें विश्व के श्रेष्ठ रचनाकारों में रखा जा सकता है। कुछ चुने हुए हाइकु प्रस्तुत हैं]


डॉ .सुधा गुप्ता
1
गूँगी सुबह
बहरी दोपहरी
अन्धी है रात ।
2
चन्द तिनके
चिड़िया का हौसला
बना है घर ।

ओम चैतन्य शर्मा

3
चाँद जो आया
बल्लियों उछला है
झील का दिल ।
4
चुप है नदी
कुछ भी न कहती
बस, बहती ।
 5
जमी है झील
शिकारे सहमे -से
खड़े हैं मौन।
6
जागी जो कली
‘राम-राम सहेली’-
धूप  से बोली ।
7
तट पे जलीं ।
धू-धूकर आशाएँ
नदी उदा।
8
तारों की  हँसी
हँसता है आकाश
लगती भली ।
 9
ताल भरा है
फैले जल-कुन्तल
तैरती मीन ।
10
सयानी बया
जुगनू से रौशन
घर को किया ।
11
हँसता प्रात
दोपहर झींकती
शाम छींकती ।
12
हवा ने आके
कान में कुछ कहा
नीम नाचता ।
-0-




16 comments:

  1. वाह, बहुत उम्दा हाइकू पढ़ने को मिले । आभार.

    ReplyDelete
  2. बेहद खूबसूरत हाइकु! जितनी बार पढ़े उतनी बार और भी अधिक मन भाए!!

    ReplyDelete
  3. ओम शर्मा जी की कलाकृति भी शानदार!!

    ReplyDelete
  4. बहुत बहुत सुंदर हाइकु सुधा गुप्ता जी के... सच जिसने हाइकु को जिया हो वही ऐसे हाइकु लिख सकता है, आदरणीय सुधा जी हमारी प्रेरणा हैं

    बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर हाइकु!हार्दिक बधाई!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर हाइकु!हार्दिक बधाई!

    ReplyDelete
  7. अनुपम,मंत्रमुग्ध करते हाइकु,जितनी बार पढ़ें अभिनव आनन्द की अनुभूति होती है।हार्दिक बधाई। ओम जी की पेंटिंग भी चित्ताकर्षक है,बधाई।

    ReplyDelete
  8. बहुत ही अच्छी , मन को छूती मनभावन हाइकु

    ReplyDelete
  9. ओम की पेंटिंग को स्थान देने के लिए
    सादर धन्यवाद भैया जी 🙏🙏

    ReplyDelete
  10. अप्रतिम हाइकु...। आदरणीय सुधा जी की लेखनी को नमन और इतनी सुंदर रचनाओं के लिए उनको बधाई...। ओम जी की खूबसूरत कलाकृति के लिए उनको भी बहुत बधाई...।

    ReplyDelete
  11. सुधा जी के हाइकु सदा ही मनमोहक होते हैं । इतने भावपूर्ण होते हैं कि सबको कायल के देते हैं ।
    एक से बढ़कर एक सुंदर हाइकु पढ़कर हृदय प्रसन्न हो गया ।
    सुधा जी नमन एवं हार्दिक बधाइयाँ

    ReplyDelete
  12. मनभावन सुन्दर हाइकु ।

    ReplyDelete
  13. वाह! एक-एक हाइकु चित्र उकेरता हुआ! आदरणीया सुधा जी हम सबकी आदर्श हैं! ईश्वर उन्हें स्वस्थ दीर्घायु प्रदान करे एवं वे अपनी लेखनी से साहित्य-जगत को यूँ ही समृद्ध करती रहें! हार्दिक शुभकामनाओं के साथ नमन उन्हें!

    ~सादर
    अनिता ललित

    ReplyDelete
  14. बहुत सुंदर मनमोहक हाइकु। ख़ूबसूरत पेंटिंग।

    ReplyDelete
  15. बेहद खूबसूरत हाइकु.....आदरणीया सुधा जी को हार्दिक नमन !!

    ReplyDelete

  16. ओम शर्मा जी की कलाकृति भी कमाल !!

    ReplyDelete